WHO ने कोरोना वायरस को दिया नया नाम 'कोविड-19'

February 13, 2020
- आईएएनएस/एएफपी
बीजिंग/जिनेवा

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने मंगलवार को कहा कि घातक कोरोना वायरस का आधिकारिक नाम ‘कोविड-19’ (COVID-19) होगा। इस विषाणु की पहचान पहली बार 31 दिसम्बर 2019 को चीन में हुई थी।

डब्ल्यूएचओ के प्रमुख ट्रेडोस एधानोम गेब्रेयेसुस ने जिनेवा में कहा, अब हमारे पास बीमारी के लिए नाम है और यह ‘कोविड-19’ है। उन्होंने नाम की व्याख्या करते हुए कहा कि ‘को’ का मतलब ‘कोरोना’, ‘वि’ का मतलब ‘वायरस’ और ‘डी’ का मतलब ‘डिसीज’ (बीमारी) है।

उन्होंने कहा कि पहला टीका 18 महीनों के भीतर तैयार कर लिया जाएगा। न्यू कोरोना वायरस पर वैश्विक अध्ययन और नवाचार मंच की बैठक मंगलवार को जिनेवा में उद्घाटित हुआ जो कि बुधवार तक चला।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक ट्रेडोस आशा जताई कि विभिन्न पक्ष संबंधित मुद्दों पर सहमति हासिल करेंगे और योजना बनाएंगे। उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन दुनिया भर के 400 से अधिक वैज्ञानिकों के साथ विचार-विमर्श कर रहा है। रोडमैप बनाना भी महत्वपूर्ण है, जिससे संबंधित संगठनों को साफ दिशा दी जाएगी और सार्वजनिक स्वास्थ्य पर बड़ा प्रभाव पड़ेगा।

ट्रेडोस ने कहा कि पहला टीका 18 महीनों के भीतर सामने आएगा। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मरीजों के इलाज और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की रक्षा के लिए संबंधित सामग्रियों को विभिन्न देशों में पहुंचाया है। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मजबूत करने की अपील भी की।


 
News In Pics