गूगल क्रोम में गोपनीयता व सुरक्षा को और भी मजबूत किया गया

May 20, 2020
- आईएएनएस
सैन फ्रांसिस्को

गूगल ने नए टूल और क्रोम ब्राउजर की गोपनीयता एवं सुरक्षा सेटिंग्स को डेस्कटॉप पर रोल आउट करना शुरू कर दिया है, ताकि यूजर्स को यह पता चल सके कि वे दूसरों के साथ क्या डेटा साझा कर रहे हैं।

इसके साथ ही यूजर्स अब आसानी से वेब पर अपनी सुरक्षा को नियंत्रित कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए क्रोम में नई सुरक्षा जांच यूजर्स को बताएगी कि क्या उन्होंने जो पासवर्ड क्रोम को याद रखने के लिए कहा था, उससे समझौता किया गया है, और अगर ऐसा हुआ है, तो उन्हें कैसे ठीक किया जा सकता है।

यह आपको किसी खतरनाक साइट पर जाने या किसी हानिकारक एप्लिकेशन या एक्सटेंशन को डाउनलोड करने से भी बचाता है।

अगर आपका क्रोम का कोई नया वर्जन आया है तो इसके बारे में भी आपको एक और नए अतिरिक्त तरीके से पता चल जाएगा, ताकि आप नए वर्जन को डाउनलोड कर सकें।

अगर गलत या अनचाहे एक्सटेंशन इंस्टॉल किए गए हैं, तो यह आपको बताएगा कि उन्हें कैसे और कहां से निकाला जा सकता है।

इस साथ ही यह री-डिजाइन कुकीज को प्रबंधित करना भी आसान बनाता है। यूजर्स कुछ या सभी वेबसाइटों पर सभी कुकीज को ब्लॉक कर सकते हैं।

गूगल में वरिष्ठ उत्पाद प्रबंधक अब्देलकरीम मर्दिनी ने मंगलवार को एक ब्लॉग पोस्ट में इसकी जानकारी साझा करते हुए लिखा, "क्रोम सेटिंग्स के शीर्ष पर आपको 'यू एंड गूगल' (पहले 'पीपल' दिखाई देता था) दिखाई देगा, जहां आप सिंक को नियंत्रित कर सकते हैं। इन नियंत्रणों से आपको यह पता चलता है कि आपके गूगल में संग्रहीत करने के लिए गूगल के साथ कौन सा डेटा साझा किया गया है और यह आपके सभी डिवाइस पर उपलब्ध कराया गया है।"

क्योंकि कई लोग नियमित रूप से अपनी ब्राउजिंग हिस्ट्री को डिलीट करते हैं, इसलिए गूगल ने गोपनीयता और सुरक्षा अनुभाग (प्राइवेसी एंड सिक्योरिटी सेक्शन) के शीर्ष पर क्लीयर ब्राउजिंग डेटा की सुविधा प्रदान की है।

गूगल ने कहा कि नए अपडेट और फीचर्स, जिसमें पुन: डिजाइन की गई गोपनीयता और सुरक्षा सेटिंग्स शामिल हैं, आगामी सप्ताहों में डेस्कटॉप प्लेटफॉर्म पर क्रोम में आने वाली हैं।
 


 
News In Pics