महिला दिवस: मोदी ने खरीदे महिलाओं द्वारा निर्मित उत्पाद, महिला उद्यमिता को बढावा देने की अपील की

March 8, 2021

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिलाओं को बधाई दी और इस मौके पर देशवासियों से महिला उद्यमिता को बढावा देने की अपील की।

‘‘आत्मनिर्भर भारत’’ अभियान में महिलाओं की अग्रणी भूमिका का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर उन्होंने महिला स्वसहायता समूहों और उद्यमियों द्वारा तैयार कुछ उत्पाद भी खरीदें।

प्रधानमंत्री ने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा कि भारत को अपनी महिलाओं की तमाम उपलब्धियों पर गर्व है।

मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर मैं अदम्य नारी शक्ति को सलाम करता हूं। देश की महिलाओं की तमाम उपलब्धियों पर भारत को गर्व होता है। देश के विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं के सशक्तीकरण की दिशा में काम करना हमारी सरकार के लिए सम्मान की बात है।’’

प्रधानमंत्री मोदी अक्सर अपने संबोधनों में जिक्र करते हैं कि उनकी सरकार की विभिन्न योजनाओं व कार्यक्रमों के केंद्र में महिलाएं हैं। इस संदर्भ में वह रसोई गैस की आपूर्ति, जन धन योजना के तहत बैंक खाते खोलना, हर घर शौचालय बनाये जाने की योजनाओं का उल्लेख करते हैं।

एक अन्य ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा कि आत्मनिर्भर बनने के भारत के प्रयासों में महिलाएं अग्रणी भूमिका निभा रही हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर हम सभी महिलाओं में उद्यमिता को बढावा देने की प्रतिबद्धता जताएं।’’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘आज मैंने कुछ ऐसे उत्पाद खरीदे जो महिला उद्यमिता, रचनात्मकता और भारतीय संस्कृति का बखान करते हैं।’’

उन्होंने जो उत्पाद खरीदें उनमें तमिलनाडु की तोड़ा जनजाति की शिल्पकारों द्वारा तैयार शॉल, एक गोंड पेपर पेंटिंग, पारंपरिक नागा शॉल, असम का पारंपरिक ‘गामोसा’ (गमछा), केरल का निलाविलक्कू (एक विशेष प्रकार का दीया), पश्चिम बंगाल के जूट से बना फाइल फोल्डर और खादी सूती का बना एक स्टॉल जिस पर मधुबनी पेंटिंग उकेरा गया है, शामिल है।

प्रधानमंत्री ने इन उत्पादों की तस्वीरें और उनकी विशेषताएं भी ट्वीट पर साझा की।

तमिलनाडु की टोडा जनजाति के कारीगरों द्वारा बनाए गए कशीदाकारीयुक्त शॉल की खरीद पर उन्होंने कहा, ‘‘तमिलनाडु की टोडा जनजाति के कारीगरों द्वारा बनाया गया उत्कृष्ट हस्त कशीदाकारीयुक्त शॉल अनुपम दिखा। मैंने एक ऐसा ही शॉल खरीदा। ट्राइब्स इंडिया इस उत्पाद की मार्केटिंग करता है।’’


प्रधानमंत्री ने इन उत्पादों की तस्वीरें और उनकी विशेषताएं भी ट्वीट पर साझा कीं।

हस्तशिल्पयुक्त गोंड पेपर पेंटिंग को जनजातीय समुदायों की दर्शनीय कला बताते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह हस्तशिल्पयुक्त गोंड पेपर पेंटिंग रंगों और रचनाशीलता का आपस में विलय कर देती हैं।

 

मोदी ने कहा, ‘‘खादी का संबंध भारत के महान इतिहास और महात्मा गांधी से है। खादी सूती का एक स्टॉल भी खरीदा जिस पर मधुबनी पेंटिंग भी है। यह उच्च गुणवत्ता का उत्पाद है और यह हमारे नागरिकों की रचनात्मकता से जुड़ा है।’’

पश्चिम बंगाल के हस्तनिर्मित जूट फाइल फोल्डर के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘मैं निश्चित रूप से पश्चिम बंगाल के इस हस्तनिर्मित जूट फाइल फोल्डर का उपयोग करने जा रहा हूं। राज्य के जनजातीय समुदायों द्वारा बनाए गए पश्चिम बंगाल के इस जूट उत्पाद को निश्चित रूप से आपके घरों में होना चाहिए।’’


प्रधानमंत्री ने असम के गामुसा को बेहद आरामदायक बताया और कहा कि उन्होंने काकातीपापुंग डेवलपमेंट ब्लॉक के विभिन्न स्व-सहायता समूहों द्वारा बनाया गया गामुसा खरीदा।

 


भाषा
नयी दिल्ली

 
News In Pics