दलित की हत्या की तुलना लखीमपुर खीरी घटना से करना बेमतलब : गहलोत

October 13, 2021

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को राज्य के हनुमानगढ़ जिले में एक दलित व्यक्ति की हत्या और उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बीच तुलना करने को लेकर भाजपा पर जमकर निशाना साधा।

गहलोत ने मंगलवार को मीडिया से बात करते हुए कहा, "भाजपा के लोग बिना किसी मतलब के तुलना कर रहे हैं।"

पिछले हफ्ते हनुमानगढ़ जिले के प्रेमपुरा गांव में एक दलित व्यक्ति की कथित तौर पर पीट-पीटकर हत्या किए जाने के बाद भाजपा ने मंगलवार को मामले की जांच करने और तथ्य एकत्र करने के लिए तीन विधायकों का एक प्रतिनिधिमंडल भेजा, इसके अलावा पूछा कि प्रियंका और राहुल गांधी उत्तर प्रदेश का दौरा क्यों करते रहते हैं, कभी राजस्थान क्यों नहीं आते?



गहलोत ने कहा, "भाजपा पदाधिकारियों को इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि किस तरह की स्थिति में क्या कहा जाए या क्या किया जाए।"

उन्होंने कहा, "मैं ऐसे नेताओं को पहली बार देख रहा हूं। मुख्यमंत्री पद के लिए आशान्वित होने के बावजूद, वे मूर्खतापूर्ण टिप्पणी कर रहे हैं। जो लोग कहते हैं कि प्रियंका गांधी और राहुल गांधी राजस्थान क्यों नहीं आते हैं, उन्हें पता होना चाहिए कि वे विपक्षी नेता हैं और भाजपा शासित राज्य में जाएंगे। राजस्थान कांग्रेस शासित राज्य है, इसलिए भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को यहां आना चाहिए। प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी), गृहमंत्री (अमित शाह) या भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा को राजस्थान का दौरा करना चाहिए।"

उन्होंने कहा, "हनुमानगढ़ की घटना का इस्तेमाल लखीमपुर खीरी की घटना का मुकाबला करने के लिए किया जा रहा है, जो मूर्खतापूर्ण है। दोनों अलग-अलग तरह की घटनाएं हैं।"

इस बीच, राजस्थान भाजपा अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा, "मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को डर है कि अगर राहुल-प्रियंका राजस्थान आए तो यहां की कानून-व्यवस्था की पोल खुल जाएगी या शायद वे कैबिनेट विस्तार की मांग करेंगे।"

 


आईएएनएस
जयपुर

 
News In Pics