IPL का साथ छोड़ सकती है वीवो

August 5, 2020
- वार्ता
नई दिल्ली

भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव का असर अब खेलों पर दिखाई देने लगा है और इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की टाइटल प्रायोजक चीन की मोबाइल कंपनी वीवो भारत में उठे विरोध स्वर के बाद आईपीएल का साथ छोड़ सकती है।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने आईपीएल के 13वें संस्करण को 19 सितम्बर से 10 नवम्बर तक संयुक्त अरब अमीरात में कराने की घोषणा की है।

आईपीएल की संचालन परिषद  ने गत रविवार को यह घोषणा करने के साथ बताया था कि वीवो सहित उसके  सभी  प्रायोजकों को बरकरार रखा गया है, लेकिन इसके बाद देश में विरोध के स्वर उठे कि कैसे बीसीसीआई एक चीनी कंपनी को आईपीएल का टाइटल प्रायोजक बनाए रख सकती है।

बीसीसीआई ने अभी तक आधिकारिक रूप से कोई घोषणा नहीं की है, लेकिन मीडिया में यह खबरें सुर्खियां बनी हुई हैं कि वीवो का आईपीएल के साथ नाता टूट गया है। यह भी कहा जा रहा है कि यह साथ फिलहाल इस साल के लिए टूटा है।

वीवो का बीसीसीआई के साथ 2018 में पांच साल के लिए 2199 करोड़ रुपए का करार हुआ था जो 2023 में समाप्त होना है। यदि करार इस साल के लिए टूटता है तो वीवो अगले साल टाइटल प्रयोजन के लिए लौट सकती है।

इस साल करार टूटने की स्थिति में बीसीसीआई के आईपीएल-13 के लिए नया टाइटल प्रायोजक ढूंढना होगा।


 
News In Pics