बिहार विधानसभा परिसर में मिलीं शराब की बोतलें, मुख्यमंत्री ने दिया जांच का आदेश

December 1, 2021

बिहार में पूर्ण शराबबंदी कानून के उल्लंघन का उदाहरण मंगलवार को विधानसभा परिसर में देखने को मिला। परिसर में शराब की बोतलें पायी गयीं, जिससे हंगामा मच गया।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस मामले की जांच का आदेश देते हुए कहा कि घटना में शामिल किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।

मुख्यमंत्री ने मंगलवार को बिहार विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दौरान परिसर से शराब की बोतलें बरामद होने की घटना की गहन जांच कराने की घोषणा की। उन्होंने इस घटना को बेहद गंभीर बताया और कहा कि इसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री ने भोजनावकाश के बाद सदन की बैठक के दौरान विपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव की ओर से सभा परिसर में शराब की बोतलें बरामद होने का मुद्दा उठाये जाने के बाद जांच का आदेश दिया। तेजस्वी ने इस मुद्दे को उठाते हुए कहा कि उन्होंने स्वयं घटनास्थल का मुआयना किया और पाया कि विधानसभा परिसर में शराब की बोतलें बिखरी पड़ी हैं।

उन्हें इस घटना के बारे में तब पता चला, जब मीडिया ने इसकी खबर दी। तेजस्वी ने कहा,‘जिस स्थान से शराब की बोतलें बरामद हुई हैं, वह मुख्यमंत्री के कक्ष से अधिक दूर नहीं है, लेकिन उन्होंने वहां जाने की जहमत नहीं उठाई। मुख्यमंत्री खुद मौके पर नहीं गये, इसलिए बाद में वे कह सकते हैं कि वहां शराब की नहीं, कोल्ड डिं्रक की बोतलें मिली हैं।’

मुख्यमंत्री ने तेजस्वी की ओर से उठाये गये मुद्दे पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि यह एक गंभीर मामला है। उन्होंने कहा कि मुझे इस घटना की जानकारी नहीं थी और जब यह मामला उठाया जा रहा था, तब सदन में आने के बाद उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद से इसके बारे में जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं आज ही मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) से मामले की जांच कराने को कहूंगा।

दोषी पाये जाने वालों को किसी कीमत पर बख्शा नहीं जायेगा। उन्होंने कहा कि विधानसभा परिसर से शराब की बोतलों की बरामदगी इस तथ्य का संकेत देती है कि इस क्षेत्र के कुछ व्यक्ति शराब के सेवन में लिप्त हैं और उन्होंने शराबबंदी कानून का उल्लंघन किया है।


वार्ता
पटना

 
News In Pics