पानी के 13 लाख नमूनों में से 1.11 लाख में अशुद्धियां

October 17, 2021

देशभर में पेयजल के 13 लाख से अधिक नमूनों की जांच में 1.11 लाख से अधिक नमूने अशुद्ध पाए गए।

आधिकारिक आंकड़ों में यह जानकारी दी गई। ये नमूने सरकार के पेयजल जांच और निगरानी कार्यक्रम के तहत लिए गए थे।

जल शक्ति मंत्रालय के कार्यक्रम के तहत जुटाए गए आंकड़ों से पता चला कि पेयजल में अशुद्धियां पृथ्वी की सतह पर प्राकृतिक तौर पर मौजूद रसायन तथा मिनरल जैसे ऑर्सेनिक, फ्लोराइड, आयरन और यूरेनियम आदि की थी।

इसमें यह भी कहा गया कि जल स्रेतों के निकट भारी धातु की उत्पादन इकाइयों के कारण भी जल में अशुद्धियां हो सकती हैं।

मंत्रालय ने कहा कि इसके अलावा जलशोधन संयंत्रों के सही से काम नहीं करने के कारण अथवा जलापूर्ति तंत्र सही नहीं होने से भी पानी में अशुद्धियां हो सकती हैं।

आंकड़ों के अनुसार, प्रयोगशालाओं में 13,17,028 नमूनों की जांच की गई, जिनमें से 1,11,474 नमूनों में अशुद्धियां पाई गई।

एक अधिकारी ने बताया कि अगर पानी का नमूना गुणवत्ता जांच में खरा नहीं उतरता है तो अधिकारियों को ऑनलाइन इसके बारे में जानकारी दी जा सकती है।


भाषा
नई दिल्ली

 
News In Pics
cached