राज्यसभा में पहला भाषण देने वाले सदस्य 15 मिनट में अपनी बात रखेंगे : सभापति

January 25, 2023

राज्यसभा के सभापति ने अपना पहला भाषण देने वाले सदस्यों से 15 मिनट में अपनी बात रखने को कहा है ताकि सदन में समय का प्रबंधन प्रभावित न हो।

राज्यसभा के महासचिव पी सी मोदी ने उच्च सदन के सभापति के निर्देश का उल्लेख करते हुए एक बुलेटिन में मंगलवार को यह जानकारी दी।

उच्च सदन के 24 जनवरी को जारी संसदीय बुलेटिन में राज्यसभा के महासचिव पी सी मोदी कहा है कि स्थापित संसदीय परम्परा के अनुसार, सभा में पहला भाषण दे रहे सदस्यों के अपनी बात रखने के दौरान अन्य सदस्यों द्वारा अवरोध उत्पन्न नहीं किया जाता है। साथ ही उन्होंने कहा कि नए सदस्यों के भाषण के लिए सभापीठ द्वारा भी उचित समय दिया जाता है।

बुलेटिन के अनुसार, उन्होंने कहा कि फिर भी यह देखा गया है कि कभी-कभी अपना पहला भाषण देने वाला/वाली सदस्य सामान्यत: अपेक्षित समय से अधिक समय ले लेते हैं और कभी-कभी वे चर्चाधीन विषय से भी दूर चले जाते हैं।

राज्यसभा के महासचिव के अनुसार, ‘‘ सभापति ने यह निर्देश दिया है कि अपना प्रथम भाषण देने वाले सदस्य को इस प्रकार अपना भाषण देना चाहिए जिससे कि दिवस के लिए निर्धारित कार्य हेतु समय प्रबंधन प्रभावित न हो और उन्हें 15 मिनट से अधिक समय नहीं लेना चाहिए।’’

गौरतलब है कि संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से शुरू होगा । संसद के बजट सत्र में 27 बैठकें होंगी और यह 6 अप्रैल तक चलेगा । सत्र का पहला चरण 31 जनवरी से शुरू होकर 13 फरवरी तक होगा। बजट सत्र का दूसरा चरण 13 मार्च से शुरू होगा और 6 अप्रैल तक चलेगा।

राज्यसभा के एक अन्य बुलेटिन (भाग 2) में कहा गया है कि संसदीय प्रथाओं और परिपाटियों के अनुसार, सभा में कोई मामला उठाने के लिए किसी सूचना के संबंध में किसी भी सदस्य या अन्य व्यक्ति द्वारा तब तक प्रचार नहीं किया जाना चाहिए जब तक कि वह सभापति द्वारा स्वीकार न कर ली जाए और सदस्यों को परिचालित न कर दी जाए।

इसमें कहा गया है कि किसी भी सदस्य को सभा में वह मामला नहीं उठाना चाहिए जिसकी सूचना उसने दी हो और जो सभापति के विचारार्थ लंबित हो।


भाषा
नई दिल्ली

 
News In Pics